Monday, 18 June 2012

Bahan Ki Chudai - Hindi Sex Stories

मेरा नाम अरुण है हम लोग देहली मै रहते है मेरी उम्र २२ साल की है मेरी छोटी बहन २० साल की है उसका नाम माया है एक बार मेरे मम्मी पापा किसी शादी में गए हुए थे हम दोनों घर पर अकेले थे शाम को खाना खाने के बाद हम दोनों अपने बेडरूम में टी वी देखने लगे मै आपको बता दु की मेरी बहन बहुत ही सेक्सी थी उसकी मोटी मोटी चूचियां और गांड किसी को भी दीवाना बना देती थी उसका ध्यान मूवी देखने मै था और मै उसे देख रहा था मूवी देखने के बाद हम लेट गए लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी कमरे में नायेट बल्व जल रहा था माया टॉप थोडा ऊपर खिसक गया था उसका पेट और ब्रा साफ़ दिख रही थी मेरा उसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और में उसके करीब जाकर लेट गया मैंने धीरे से उसके पेट पर हाथ रख दिया और सह लाने लगा थोड़ी देर के बाद मैंने अपना हाथ ऊपर की तरफ बढाया और उसकी चुचियों पर रख दिया उसने काले रंग की ब्रा पहन राखी थी मैं धीरे धीरे उसकी चुचियों को दबाने लगा इधर मेरा लंड कड़क होता जा रहा था और मै आहिस्ता आहिस्ता उसकी चूची को दबा रहा था और माया बेफिक्र होकर सो रही थी मुझे थोड़ी और हिम्मत आ गयी मैंने उसकी टॉप के बटन खोलने सुरु कर दिए इस समय उसके चुचे काली ब्रा में बहुत ही सेक्सी लग रहे थे इसके बाद धीरे से मैंने उसकी पेंटी के ऊपर हाथ रख दिया और पेंटी को नीचे खिसकाने लगा धीरे धीरे मैंने उसकी पेंटी उसकी टांगो से निकल दी उसकी चूत को देख कर मैं पागल हो गया उसकी चूत पर हलके हलके बाल थे जिन्हें मै बड़े प्यार से सहलाने लगा इस समय उसके बदन पर ब्रा और इस्कर्ट बचा था जिसमे वह बहुत ही सेक्सी व हसीन लग रही थी उसे देखकर मेरा लंड और भी कड़क होता जा रहा था तभी वह मेरी तरफ करवट ले कर लेट गई मैंने अपना हाथ तुरंत हटा लिया और कुछ देर तक ऐसे ही लेटा रहा फिर मैंने हिम्मत करके उसके पीछे हाथ डाल कर ब्रा का हुक खोल दिया उसके बूब्स देखकर मै घायल हो गया और उसके निप्पल को मुहं में लेकर धीरे धीरे चूसने लगा काफी देर तक मै उसके निप्पल को चूसता रहा मैंने सोचा आज इसकी जवानी का स्वाद जरुर लूगा फिर मैंने उसकी चूत पर हाथ रख दिया मुझे उसकी चूत पर कुछ गीला गीला सा लगा उसकी चूत एकदम चिकनी हो रही थी मै उसकी चूत के चारो तरफ अपनी ऊँगली फिराने लगा तभी वह सीधी होकर लेट गई और मैंने एक ऊँगली उसकी चूत में डाल दी अब मै बर्दास्त नहीं कर पा रहा था मै धीरे से आकर उसकी टांगो के बीच आकर बैठ गया और लंड उसकी चूत पर टिका दिया उसकी चूत काफी गीली हो रही थी मै अपना लंड उसकी चूत पर फिरा रहा था की तभी वह जग गई और बोली भैया ये क्या कर रहे हो मैंने सुके बाजुयों को कस कर पकड लिया और उसके ऊपर लेट गया वह बोली प्लीज़ भैया मुझे छोड़ दो ये पाप है लेकिन मेरे सर पर चुदाई का भूत सवार था मैंने लंड उसकी चूत के छेद पर रख कर तेज से एक धक्का मार दिया वह रोने लगी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समां गया मैं कुछ देर एइसे ही लेटा रहा फिर मैंने धीरे धीरे धक्के मारने शुरु किये कुछ देर धक्के मारने के बाद उसे भी मज़ा आने लगा वह अपने चूतड ऊपर की तरफ करने लगी अब वह मेरा पूरा साथ दे रही थी मैंने उससे कहा अपने बाकी कपडे भी निकल दो उसने झट से अपना इस्कर्ट और ब्रा निकल कर फेक दिया और मैंने भी अपने कपडे निकल दिए अब हम दोनों नंगे होकर जवानी के मज़े लूटने के लिए तैयार थे अब मैं उसकी चूत मे लंड डाल कर उसके निप्पल को चूसने लगा वह ओह आहा उओं की आवाज निकलने लगी मैंने उसकी टांगो उढ़ाकर अपने कंधे पर रख लिया और तेज तेज धक्के मारने लगा उसे भी चुदवाने अब काफी मज़ा आ रहा था चोदते समय उसने मेरे कंधे पर बहुत तेज काट लिया तो फिर मैंने भी टाँगे उठाकर तेज़ी से धक्के मारने लगा मेरा बदन पूरा पसीने में भीग गया था और मैं लगातार धक्के मरता जा रहा था तभी उसका शारीर अकड़ गया और उसने अपनी चूत से पानी छोड़ दिया और वह मुझ से पागलो की तरह लिपट गई मैंने धक्को की स्पीड और तेज कर दी थोड़ी देर के बाद मैंने भी उसकी चूत में पानी छोड़ दिया और कुछ देर तक हमदोनो ऐसे ही लेटे रहे उस रात मैंने माया की तीन बार चूत मारी इसके बाद जब भी हमे मौका मिलता हम आपस में सेक्स कर लेटे हैं दोस्तों बहन की चूत मारने का मज़ा ही कुछ और है

--
Abhishek Rana

0 comments:

Post a Comment

 
Design by Wordpress Theme | Bloggerized by Free Blogger Templates | coupon codes